“सारकेगुड़ा की बुनियाद पर… कांग्रेसी नक्सलियों से मिले हुए हैं…” – इन्हें कोई खतरा नहीं… सरकार—पुलिस की यही सोच लील गई झीरम में कांग्रेसियों को…

नज़रिया / सुरेश महापात्र वर्ष 2012 में जब बीजापुर पुलिस जिले के सारकेगुड़ा में पुलिस ने मुठभेड़ में 17 माओवादियों के मारे जाने का दावा किया था तो खबर बहुत

आगे पढ़ें

अब वक्त गुजर चुका है और इतिहास में दर्ज हो गया है…

नज़रिया / सुरेश महापात्र अब से करीब 100 घंटे पहले  शनिवार की रात टीवी न्यूज चैनलों में उद्धव ठाकरे के सीएम बनने को लेकर सहमति की खबरों ने रविवार सुबह

आगे पढ़ें

जम्मू कश्मीर पर सरकार के उठाए गए कदमों की पूरी तरह निंदा करने से सहमत नहीं- कर्ण सिंह

न्यूज डेस्क. नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के कई प्रावधानों को खत्म करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के सरकार के कदम

आगे पढ़ें

बघेल सरकार के छ: माह, चुनौती बाहर से नहीं भीतर से…

– दिवाकर मुक्तिबोध इसी 17 को भूपेश बघेल सरकार के छ: माह पूरे हो गए। स्वाभाविक था वह बीते महीनों का हिसाब -किताब जनता के सामने रखती। वह रखा। सरकार

आगे पढ़ें

सात दिनों का आंदोलन तय करेगा अडानी की कंपनी “एईएल” का भविष्य… आक्रोशित आदिवासियों की भीड़ तो छंट गई पर पीछे बहुत से सवाल छोड़ गई…

धीरज माकन.किरंदुल. डिपाजिट-13 की पहाड़ी स्थानीय लोगों के लिए लोहे की पहाड़ी हो सकती है लेकिन अडानी के नजर में यह उसके लिए सोने की खान साबित हो सकती थी,

आगे पढ़ें

बस्तर के हित में फैसला… उम्मीद से आगे कदम बढ़ाकर दिखाया सीएम भूपेश बघेल ने… मामला डिपाजिट 13 में अडानी के खनन के ठेके का…

​त्वरित टिप्पणी / सुरेश महापात्र. किसी मामले के उठे महज 120 घंटे हुए हों और सरकार ऐसा फैसला लेकर सामने आए जिससे उम्मीद जगे ऐसा कम ही होता है। पर

आगे पढ़ें

जिस गांव से उठे थे नक्सलियों के खिलाफ स्वर, बदली नहीं तस्वीर उस, अम्बेली गाँव की

पी रंजन दास. बीजापुर। 5 मई सन् 2005 को गुरूवार का दिन था और ठीक इसके कुछ दिन पहले भैरमगढ़ के पास बेलचर गांव में नक्सलियों ने जवानों से भरी

आगे पढ़ें

आखिर कांग्रेस की अस्वीकार्यता की वजह क्या है? एक्जिट पोल के बाद दिखते हालात…

सुरेश महापात्र. लगातार दस बरस तक केंद्र की सत्ता में रहने के बाद कांग्रेस के जो दुर्दिन 2014 में शुरू हुए थे उसका अंत फिलहाल नहीं है। सिमटते-सिमटते कांग्रेस अब उसी

आगे पढ़ें

बस्तर की जीवनदायिनी इन्द्रावती का सूखना ख़तरे की घंटी : बसंत ताटी

इम्पेक्ट न्यूज. भोपालपटनम। बस्तर की जीवनदायिनी नदी इन्द्रावती के निरन्तर सूखते जाने के कारण क्षेत्र में भयावह जलसंकट उत्पन्न होने की स्थिति बनती जा रही है। नदी के सूख जाने

आगे पढ़ें

यहां सरकार नहीं नक्सली देते हैं परमिशन, साधारण सी बैरिकेंटिंग में सभी के लिए संदेश “प्रवेश निषेध”! नक्सलगढ़ रिपोर्टिंग के लिए पहुंचे पत्रकार को खाली हाथ लौटना पड़ा…

युकेश चंद्राकर सागमेट्टा से लौटकर. अभी कुछ समय पहले की ही बात है। नक्सली नेता गणेश उइके ने बाकायदा प्रेस नोट जारी कर पत्रकारों को नक्सल आधार इलाकों में बेख़ौफ़

आगे पढ़ें