तो यह तय करना कठिन होगा कि उन्होंने न्याय किया या इन्होंने… इसलिए कृपया फर्जी मुठभेड़ों को न्याय मत मानिए…

सुरेश महापात्र। छत्तीसगढ़ में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ की सैकड़ों कहानियों का सच किसी को अब तक पता नहीं। सैकड़ों माओवादियों की मौत मुठभेड़ के नाम दर्ज हैं।

आगे पढ़ें

माटी के सच्चे मित्र : सप्रे जी

तारण प्रकाश सिन्हा। पेंड्रा आज भी एक छोटी जगह ही है। छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के करीब 20 साल बाद भले ही गौरेला-पेंड्रा-मरवाही आज एक जिला बन चुका है, लेकिन इस

आगे पढ़ें

अजीत जोगी के बाद…?

दिवाकर मुक्तिबोध। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन के बाद यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि उनके नेतृत्व में गठित जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ का भविष्य क्या होगा। कांग्रेस

आगे पढ़ें

एफटीआईआई फिल्मों का यूपीएससी है… सिनेमा अब गांव की ओर है : गणेश कुमार

हेमंत पाणिग्राही. जगदलपुर। हिंदी सिनेमा के उभरते हुए अभिनेता गणेश कुमार ने “बस्तर टॉक” वेबिनार के माध्यम से बातचीत करते कहा कि सिनेमा का एक नया दौर शुरू हो गया

आगे पढ़ें

दंतेवाड़ा में भाजपा जहां से चली थी… वहीं ना पहुंच जाए…

अजय सरस्वती श्रीवास्तव। दन्तेवाड़ा जिले में बीजेपी जिन परिस्थितियों में स्थापित हो पाई थी वो बेहद ही कठिन थी, स्व.महेन्द्र कर्मा जैसा लोकप्रिय और दिग्गज नेता वे जब अपनी राजनीति

आगे पढ़ें

असाधारण जोगी…

–दिवाकर मुक्तिबोध। अजीत जोगी पर क्या लिखूँ ? करीब दस साल पूर्व उनकी राजनीति व उनके व्यक्तित्व के विभिन्न पहलुओं पर आलोचनात्मक दृष्टि डाली थी। कई पन्नों का यह लेख

आगे पढ़ें

विस्थापितों के संकट का सामना किया था नेहरू ने…

सुदीप ठाकुर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च की रात जब देशव्यापी लॉकडाउन लागू करने की घोषणा की थी, तो संभवतः इसका अंदाजा नहीं था कि लाखों लोग अपने घरों

आगे पढ़ें

जब बेगारी, भूख से मौत का साया गहराया हो… ऐसे वक्त में किसानों के खाते में किसान न्याय योजना की शुरूआत की… जब किसानों को इसकी सबसे बड़ी जरूरत थी…

विशेष लेख / सौरभ शर्मा। द वल्चर एंड द लिटिल गर्ल, हम सबने कभी न कभी यह फोटो जरूर देखी होगी। एक बच्चा है जो भूखा और कमजोर है और

आगे पढ़ें

क़ीमती बिवाइयाँ, पीर देश की..!

मनोज त्रिवेदी। आप कई राष्ट्रीय समाचार पत्रों में उच्च प्रबंधकीय दायित्व संभाल चुके हैं। लेखन के प्रति उनकी गहरी रूचि उनके सोशल मीडिया मंच पर नियमित प्रदर्शित होती है। बेहद

आगे पढ़ें

अथ श्री महाभारत कथा…

रामायण और महाभारत हिंदुस्तानी छोटे पर्दे की कालजयी रचना है… बहुतों के बचपन के साथ यह जुड़ा है। भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी जो राजधानी में एसएसपी हैं उनकी यादों

आगे पढ़ें