7 वर्ष के बच्चे पर चोरी का आरोप लगा कर मारपीट कर दूकानदार ने बांध दिया पेड़ से…

दूकानदार ने बच्चे के परिजनों से चोरी के रकम को वापस करने को कहा

सुमित ठाकुर,जशपुरनगर.

जिले में एक बार फिर मानवता को शर्मसार करने वाला मामला प्रकाश में आया है। एक 7 वर्ष के मासूम नाबालिग बच्चे के ऊपर चोरी का आरोप लगाकर उसकी पिटाई कर दी गई। मामला जिले के तुमला थाना क्षेत्र की है।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार तुमला थाना निवासी मासूम एक दुकान में बिस्कीट खरीदने के लिए गया था। जिस दूकान में मासूम गया था उस दुकानदार का आरोप था कि उसने दुकान से कुछ पैसे चोरी कर लिया है।

इसके बाद दुकानदार ने मासूम की जमकर पिटाई कर दी और उससे चोरी कुबुलवाने के लिए रस्सी से बांधते हुए एक पेड़ से बांध दिया। तुमला थाना क्षेत्र के ग्राम जोरंडा झरिया की है जहां आज सुबह लगभग 9 बजे 7 वर्षीय मासूम बिस्कुट खरीदने के लिए आरोपी रामेश्वर डनसेना की दूकान गया था।

उसी समय दुकानदार रामेश्वर ने बच्चे के ऊपर आरोप लगाया कि उसने दुकान से लगभग 200 रुपए चुरा लिया है। जिसके बाद दुकानदार ने मासूम की जमकर पिटाई कर दी और इतना ही नहीं दुकानदार ने मासूम बच्चे को रस्सी से बड़ी बेरहमी से बांधकर एक पेड़ में काफी देर तक बांधे रखा।

इसके बाद भी दुकानदार को सुकून नहीं मिला और दुकानदार ने परिजनों को इस शर्त पर बच्चे को सौंपा कि वह चोरी हुए पैसे को हर्जाने सहित जमा करेंगे।
घटना की तस्वीर वायरल होने के बाद परिजन मामले को लेकर अब पुलिस से शिकायत करते हुए न्याय की मांग कर रहे हैं।

तुमला थाना प्रभारी ने बताया कि शिकायत पर दुकानदार के खिलाफ धारा 342,323 के तहत मामला दर्ज कर बच्चे को एमएलसी के लिए भेजा दिया है।

मानवता हुई शर्मसार
तुमला थाना क्षेत्र के जोरंडा झरिया में रामेश्वर डनसेना की दूकान में सोमवार की सुबह एक 7 वर्षीय बच्चा बिस्कीट खरीदने के लिए पंहुचा था। बच्चे के दूकान से बिस्कीट खरीदने के बाद दूकानदार रामेश्वर डनसेना से दूकान में पंहुचे बच्चे के उपर दूकान से 200 रुपए चोरी करने का आरोप लगा दिया।

आरोप लगाने के बाद दूकानदार ने बच्चे की पिटाई शुरु कर दी। रामेश्वर डनसेना को बच्चे की पिटाई से जब मन नहीं भरा तो बच्चे को दूकान के पास एक पेड़ में रस्सी से बांध दिया था। बच्चे को रस्सी से पेड़ में बांध दिए जाने और मारपीट की सूचना जब बच्चे के परिजनों को लगी तो वे अपने बच्चे को छुड़ाने के लिए मौके पर पंहुच गए थे। लेकिन दूकानदार ने बच्चे के परिजनों को बच्चे के द्वारा चोरी किए जाने की बात कहते हुए बच्चे के द्वारा चोरी किए गए 200 रुपए को वापस मांगने की बात कहने लगा।

वहीं इस मामले में सबसे शर्मनाक बात यह सामने आई कि दूकानदार के द्वारा जिस समय बच्चे की पिटाई की जा रही थी उस समय दूकान के आसपास मौजूद अन्य ग्रामीण इस पूरे वाक्ये को देख रहे थे,लेकिन किसी ने भी बच्चे को बचाने के लिए सामने नहीं आया। यहां तक की जब बच्चे को पेड़ से बांध दिया उसके बाद भी लोग तमाशबीन बनकर खड़े रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *