देश की सिंचाई परियोजनाओं में खर्च होंगे 139 करोड़

  • रायपुर।

प्रदेश में सिंचाई और जल परियोजनाओं पर लगभग 139 करोड़ 80 लाख 43 हजार रुपए की मंजूरी दी गई है। प्रदेश के विभिन्न योजनाओं पर यह राशि खर्च की जाएगी। इससे सिंचाई और जल परियोजनाओं का निर्माण और मरम्मत कार्य किया जाएगा। इस राशि से विभिन्न योजनाओं के निर्माण से 18 हजार 352 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।
राज्य शासन के अनुसार उत्तर बस्तर कांकेर जिले के विकासखण्ड चारामा की खैरखेड़ा तालाब के जीर्णोद्वार कार्य के लिए दो करोड़ 97 लाख 55 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। तालाब के मरम्मत कार्य के उपरांत 225 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई उपलब्ध हो सकेगी। चारामा के अरौद उद्धवहन योजना के लिए एक करोड़ 72 लाख 45 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना से 210 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई प्रस्तावित है। बस्तर जिले के विकासखण्ड बकावंड के ग्राम करंजी में बोरिया नाला पर स्टापडेम निर्माण के लिए एक करोड़ 27 लाख 53 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। स्डापडेम के निर्माण से निस्तारी, पेयजल के साथ ही 75 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध हो सकेगा। बेमेतरा जिले के विकासखण्ड धमधा की डगनिया डायवर्सन योजना के मरम्मत कार्य के लिए एक करोड़ 33 लाख 40 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। डायवर्सन के मरम्मत से 101 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। विकासखण्ड नवागढ़ के टेमरी उद्धवहन योजना के नहर मरम्मत और 33 के.व्ही. विद्युत केन्द्र स्थापना के लिए दो करोड़ 97 लाख 38 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 1021 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।
कबीरधाम जिले के विकासखण्ड पंडरिया की कपाट नाला डायवर्सन योजना के लिए दो करोड़ 74 लाख 36 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना से 110 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई प्रस्तावित है। विकासखण्ड सहसपुर लोहारा के सुतियापाट परियोजना के बरगांव माईनर के रिमॉडलिंग और नहर विस्तारीकरण कार्य के लिए आठ करोड़ सात लाख 63 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 2312 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। गरियाबंद जिले के विकासखण्ड फिंगेश्वर की जोगीडीपा जलाशय के नहर मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ 72 लाख 35 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। कार्य के पूरा होने के पश्चात 1012 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। दुर्ग जिले के विकासखण्ड दुर्ग की पीसेगांव उद्धवहन योजना के नहर नाली मरम्मत कार्य के लिए एक करोड़ 64 लाख 50 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना से 202 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा प्रस्तावित है। दुर्ग के तान्दुला परियोजना अंतर्गत हथखोज वितरक नहर के मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ 93 लाख 38 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना से 531 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई प्रस्तावित है। दुर्ग के ननकट्टी व्यपवर्तन योजना के नहर मरम्मत और नहर विस्तार के लिए दो करोड़ 97 लाख 88 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना से 123 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई प्रस्तावित है। दुर्ग की मासाभाट जलाशय नहर मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ 38 लाख 63 हजार रूपए की प्र्रशासकीय स्वीकृति दी गई है। योजना से 319 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा प्रस्तावित है। विकासखण्ड धमधा के मेढ़ेसड़ा व्यपवर्तन और नहर मरम्मत कार्य के लिए 79 लाख 81 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 40 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। विकासखण्ड पाटन के मोखली व्यपवर्तन में विभिन्न मरम्मत कार्य के लिए छ करोड़ 14 लाख 65 हजार रूपए स्वीकृत किया गया है। योजना के पूरा होने से 447 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। पाटन के कसही जलाशय नहरों के मरम्मत एवं अन्य कार्यो के लिए छ: करोड़ 75 लाख पांच हजार रूपए स्वीकृत किया गया है। योजना के पूरा होने से 472 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी।
रायपुर जिले के विकासखण्ड अभनपुर स्थित अभनपुर जलाशय के मरम्मत कार्य के लिए एक करोड़ 21 लाख 83 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 51 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड आरंग की नरदहा जलाशय और मुख्य नहर के मरम्मत कार्य के लिए एक करोड़ 47 लाख 57 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 60 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। कोरिया जिले के भरतपुर-बरौता जलाशय योजना के नहर मरम्मत कार्य के लिए एक करोड़ 19 लाख 93 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। योजना के पूरा होने से 253 हेक्टेयर क्षेत्र मेें सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड खडगवां के बरदर जलाशय योजना के नहरों के मरम्मत कार्य के लिए एक करोड़ 87 लाख रूपए की स्वीकृति दी गई है। मरम्मत उपरांत जलाशय से 325 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। खडगवां के बंजारी डांढ जलाशय के नहर मरम्मत कार्य के लिए एक करोड़ 33 लाख 45 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। योजना के पूरा होने से 202 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड बैकुण्ठपुर के अमहर जलाशय नहरों के मरम्मत कार्य के लिए एक करोड़ 67 लाख 66 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 802 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। बैकुण्ठपुर के ही गोबरी जलाशय योजना नहर मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ 96 लाख 79 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है।योजना से 670 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई प्रस्तावित है। बैकुण्ठपुर के सिलफोड़ा जलाशय के चैनल मरम्मत और अन्य कार्यो के लिए दो करोड़ दो लाख 50 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना से 470 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई मिल सकेेगी। सरगुजा जिले के विकासखण्ड लुण्ड्रा स्थित सहनपुर व्यपवर्तन योजना के मुख्य नहर में विभिन्न निर्माण कार्यो के लिए दो करोड़ 79 लाख 22 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योनजा के पूरा होने से 1095 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई मिल सकेगी। विकासखण्ड बतौली के गहिला जलाशय केनाल गेट की मरम्मत और विभिन्न निर्माण कार्य के लिए दो करोड़ 63 लाख 50 हजार रूपए स्वीकृत किया गया है। योजना के पूरा होने से 301 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। विकासखण्ड लुण्ड्रा के गंगोली व्यपवर्तन योजना के लिए दो करोड़ 88 लाख 49 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 607 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई मिल सकेगी। बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के बेलनाला व्यपवर्तन योजना के लिए 16 करोड़ 62 लाख 73 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के निर्माण से कुल 650 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई मिल सकेगी। महासमुंद जिले के विकासखण्ड बसना की कपसाखुटा जलाशय नरह मरम्मत कार्य के लिए 11 करोड़ 67 लाख 40 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना से 1365 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा प्रस्तावित है। विकासखण्ड बसना के सिरको जलाशय नहर मरम्मत के लिए 11 करोड़ 95 लाख 98 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 1295 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। रायगढ़ जिले के विकासखण्ड सारंगगढ़ की साराडिह बैराज परिक्षेत्र को विकसित एवं सुरक्षित करने के लिए पांच करोड़ 78 लाख 18 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के विकासखण्ड बिलाईगढ़ की लिलार व्यपवर्तन योजना के मरम्मत और लाईनिंग कार्य के लिए 14 करोड़ 70 लाख 65 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 1414 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। विकासखण्ड बिलाईगढ़ की सूखा जलाशय योजना के नहर मरम्मत कार्य के लिए चार करोड़ 88 लाख 49 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 637 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। राजनांदगांव जिले के विकासखण्ड राजनांदगांव के खैरबना जलाशय के जीर्णोद्धार और नहर लाईनिंग कार्य के लिए चार करोड़ 60 लाख 51 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योनजा के पूरा होने से 300 हेक्टेयर क्षेत्र मेें सिंचाई हो सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *