आखिर कब होगा न्याय? पूछ रहे अनियमित कर्मचारी… करेंगे आंदोलन

इम्पेक्ट न्यूज.रायपुर

छत्तीसगढ़ राज्य में नए सरकार के गठन के बाद राज्य के 1 लाख 80 हजार अनियमित कर्मचारी अपने मांग को लेकर ठगा सा महसूस कर रहे है।
जिन वादों के साथ कांग्रेश की सरकार बनी उन वादों में शामिल के एक वादा सरकार के विभिन्न विभागों में कई वर्षों के कार्य कर रहे अनियमित कर्मचारियों से भी था वादा था सरकार बनते ही सभी अनियमित कर्मचारीयों को नियमित किये जाने का। अभी तक लोकसभा का चुनाव के समय एक समिति का गठन भी किया गया पर समिति की अभी तक कोई रिपोर्ट नही आयी हालांकि मुख्यमंत्री जी ने आस्वासन दिया था कि जब तक समिति का रिपोर्ट नही आ जाता तब तक किसी प्रकार की छटनी नही होगी उसके बाद दंतेवाड़ा से नर्सो की छंटनी कर दी गयी थी तब भी मुख्यमंत्रीजी के हस्तक्षेप के बाद उन्हें वापस लिया गया। चुनावी वादे के 10 महीने बीतने के बाद भी कोई कार्यवाही नही होने और लगातार छटनी को देख एक बार फिर से अनियमित कर्मचारी लामबंद होने जा रहे है।
नियमितिकरण की मांग को लेकर 20 अक्टूबर से ’’आखिर कब होगा न्याय’ आंदोलन की शुरूवात अपने चार सुत्री मांगो को पूर्ण कराने के उद्येश्य से शासन-प्रशासन के ध्यान आकर्षण हेतु छत्तीसगढ़ संयुक्त प्रगितिशील कर्मचारी महासंघ ने सभी अनियमित अधिकरी कर्मचारियों से आवहन किया है कि 20 अक्टूबर 2019 को एक बार फिर रायपुर की सड़को पर अपनी मांगो को लेकर आवाज बुलंद करेंगे। सरकार के घोषण पत्र के विपरीत अनियमित कर्मचारियों को विभिन्न विभागो द्वारा छटनी किए जाने का विरोध करेंगे। इस महासभा में राज्य के विभिन्न जिलों के अनियमित कर्मचारी सम्मिलत होगें।
नई सरकार गठन के उपरांत लगभग राज्य में पांच हजार अनियमित कर्मचारियों की छटनी की जा चुकी है। शासन के इस रवैये से छटनी हो रहे सभी अनियमित कर्मचारी अपने आपको ठगा सा महसूस करने लगे है।
सरकार जहां एक तरफ ’’अब होगा न्याय’’ का लोक लुभावन नारा लेकर शासन में आई तो सभी कर्मचारी न्याय की आश लगाए शासन की ओर देखते रहे। परन्तु लगभग एक वर्ष पुरा होने के पश्चात् अब अनियमित कर्मचारी के धैर्य का बांध टूटता नजर आ रहा है। और वे सरकार से यह पुछने को विवश हो रहे है कि ’’ कब होगा न्याय’।

नौकरी की सुरक्षा मुहिम को लेकर प्रदेश के समस्त अनियमित कर्मचारी एक बार फिर एक-जुट होकर सरकार तक अपनी बात पहुचाने हेतु 20 अक्टूबर को नए अंदाज – नया आगाज में प्रदर्शन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *