कैबिनेट का फैसला: 75 नए मेडिकल कॉलेजों को मंजूरी, देश में बढ़ेंगी 15700 MBBS सीटें, छत्तीसगढ़ के बीजापुर और कोंडागांव में मेडिकल कॉलेज की राह आसान

न्यूज डेस्क. एजेंसी.

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने देश के असेवित एवं आकांक्षी जिलों में 75 नये मेडिकल कालेज खोलने के प्रस्ताव को बुधवार को मंजूरी दे दी। इस पर 24 हजार करोड़ रूपये से अधिक राशि का निवेश होगा।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। बैठक के बारे में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं को बताया कि कैबिनेट ने 75 नये मेडिकल कालेज खोलने का निर्णय किया। इससे एमबीबीएस की 15,700 नयी सीट सृजित होंगी। 

उन्होंने बताया कि ये सभी मेडिकल कालेज वैसे स्थानों पर खोले जायेंगे जहां पहले से कोई चिकित्सा कालेज नहीं है और असेवित एवं आकांक्षी जिले हैं जो विकास में पिछड़ गए हैं। इस प्रस्ताव पर अमल में 24,375 करोड़ रूपये की लागत आयेगी और इन कालेजों की स्थापना 2021-22 तक की जानी है। 

जावड़ेकर ने बताया कि पिछले पांच वर्षों में पीजी और एमबीबीएस की 45 हजार सीटें जोड़ी गई हैं और इस अवधि में 82 मेडिकल कालेजों को मंजूरी दी गई थी। सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि इससे लाखों की संख्या में गरीबों एवं ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों को लाभ होगा और देहातों एवं ग्रामीण इलाकों में डाक्टरों की उपलब्धता बढ़ेगी। जावड़ेकर ने जोर दिया कि मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में दुनिया के किसी देश में यह बड़ा विस्तार है। उन्होंने इसे मोदी सरकार की महत्वपूर्ण उपलब्धि बताया। 

छत्तीसगढ़ के बस्तर में दो जिलों बीजापुर और कोंडागांव को केंद्र सरकार ने महत्वाकांक्षी जिलों की श्रेणी में शामिल किया है। इससे यह उम्मीद बंधी है कि नई योजना के तहत बीजापुर और कोंडागांव में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की ज्यादा संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *