निर्मला के पहले बजट से गांव—गरीब—किसान को राहत… बजट 2019: जानिए क्या हुआ सस्ता और क्या महंगा

  • इम्पेक्ट डेस्क. एजेंसी न्यूज.

केन्द्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमरण शुक्रवार को केन्द्रीय बजट पेश किया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार-दो के पहले बजट में ही अपने सरकार का एजेंडा पेश किया। उन्होंने बजट भाषण में कहा कि सरकार के प्रत्येक कार्य एवं योजना के केंद्र में गांव, गरीब और किसान हैं। वित्त मंत्री ने दावा करते हुए कहा कि 2022 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार में बिजली का कनेक्शन और स्वच्छ ईधन आधारित रसोई सुविधा होगी। हर व्यक्ति के पास अपना घर होगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत 2019-20 से 2021-22 तक पात्रता रखने वाले लाभार्थियों को 1.95 करोड़ मकान मुहैया कराए जाएंगे। इनमें रसोई गैस, बिजली एवं शौचालयों जैसी सुविधा होगी।

सरकार ने कृषि मंत्रालय के लिए आवंटन 78% तक बढ़ाया

केंद्र ने चालू वित्त वर्ष में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के लिए आवंटन को 78 प्रतिशत बढ़ाकर 1.39 लाख करोड़ रुपये कर दिया है। इसमें से 75,000 करोड़ रुपये की राशि सरकार की महत्वाकांक्षी पीएम-किसान योजना के लिए आवंटित की गई है। सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 के संशोधित बजट अनुमान में इसके लिए 77,752 करोड़ रुपये का आवंटन किया था।
हालांकि, कृषि के मशीनीकरण के लिए बजट आवंटन में बहुत अधिक बढ़ोत्तरी नहीं की गयी है। सरकार के इस वित्त वर्ष में इस मद में 600 करोड़ रुपये खर्च करने का अनुमान है। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) के लिए सरकार ने बजट आबंटन को बढ़ाकर चालू वित्त वर्ष में 3,500 करोड़ रुपये करने का प्रस्ताव किया है। इससे पहले के वित्त वर्ष के संशोधित अनुमान में यह आंकड़ा 2,954.69 करोड़ रुपया था। हरित क्रांति के तहत 18 केंद्रीय योजनाओं को लागू करने के लिए बजट आबंटन को बढ़ाकर 12,560 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

न्यू इंडिया को और रफ्तार मिलेगी

निर्मला सीतारमण ने कहा कि एनडीए ने अपने पहले कार्यकाल में ‘न्यू इंडिया के लिए काम शुरू कर दिया था। अब इन कार्यों की रफ्तार बढ़ाई जाएगी और आगे चलकर लालफीताशाही को और कम किया जाएगा। उन्होंने सत्ता में भाजपा की वापसी को उज्जवल और स्थिर नए भारत की उम्मीद बताते हुए शेर पढ़ा,’उम्मीद हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट लेकर भी चिराग जलता है।’

जल संकट खत्म होगा

वित्त मंत्री ने कहा है कि जल संकट से निपटने के लिए गठित जल शक्ति मंत्रालय के तहत, प्रत्येक घर को 2024 तक स्वच्छ और पर्याप्त जल उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस मकसद से सरकार ने जल से जुड़े सभी मंत्रालयों को जोड़कर जल शक्ति मंत्रालय बनाया है। यह मंत्रालय राज्य सरकारों के साथ मिलकर हर घर को जल उपलब्घ कराने के मिशन के साथ काम करेगा।

रक्षा बजट में बढ़ोतरी की उम्मीदों पर फिरा पानी

आम बजट में रक्षा क्षेत्र को बड़ी उम्मीदें लगी हुई थी, लेकिन सरकार ने अंतरिम रक्षा बजट आवंटन में कोई बदलाव नहीं किया। जो राशि अंतरिम बजट में आवंटित की गई थी उसी को आगे बढ़ाया गया है। अलबत्ता सैन्य बलों के लिए विदेशों से रक्षा उपकरणों की खरीद में बुनियादी सीमा शुल्क में छूट देने का ऐलान किया है। इससे खरीद में रक्षा मंत्रालय को करोड़ों की बचत होने की उम्मीद है। दूसरी तरफ विशेषज्ञों ने रक्षा बजट में बढ़ोतरी नहीं किए जाने पर भारी हैरानी जाहिर की है।

महंगा—सस्ता

पेट्रोल—डीजल पर एक रुपया एक्साइज ड्यूटी

पेट्रोल और डीजल पर एक रुपए एक्साइज ड्‍यूटी लगाने की घोषणा की गई। वित्तमंत्री की घोषणा के चलते पेट्रोल और डीजल एक रुपए महंगे हो जाएंगे।

इलेक्ट्रिक वाहन पर जीएसटी घटा

इलेक्ट्रिक वाहनों पर जीएसटी की दर 12 से घटाकर 5 प्रतिशत कर दी गई। इसके चलते इस तरह के वाहन सस्ते हो जाएंगे।

सोना और बेशकीमती धातु पर बढ़ा 2.5 फीसदी शुल्क

सोने और बेशकीमती धातुओं पर सीमा शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी कर दी गई है। जिसके बाद अब ये उत्पाद महंगे हो जाएंगे।

रक्षा उत्पाद सीमा शुल्क मुक्त

देश में नहीं बनने वाले रक्षा उत्पाद सीमा शुल्क से मुक्त रहेंगे।

हाउसिंग लोन पर ब्याज छूट

45 लाख रुपए तक के हाउसिंग लोन के ब्याज पर छूट 2 लाख से बढ़ाकर 3.5 लाख रुपए कर दी गई है। इससे मध्यम वर्ग को इनकम टैक्स में फायदा होगा। दूसरी ओर मध्यम वर्ग को आयकर में कोई छूट नहीं दी गई है। सरकार ने धनाढ्‍य वर्ग पर टैक्स बढ़ाने की घोषणा की है।

बजट कहता है

सस्ता : रक्षा उपकरण, चमड़े का सामान, इलेक्ट्रिक वाहन, 45 लाख रुपए तक का घर।

महंगा : सोना, सीसीटीवी, ऑटो पार्ट्‍स, मार्बल टाइल्स, पीवीसी, किताबें, पेट्रोल-डीजल, काजू, मेटल फिटिंग, सिंथेटिक रबर, डिजिटल वीडियो कैमरा।

सरकार पहली बार जारी करेगी 20 रुपये का सिक्का

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट के दौरान 1, 2, 5 और 10 रुपये के सिक्के के साथ 20 रुपये का नया सिक्का लाने की घोषणा की है।

इन सिक्कों में कुछ खास फीचर होंगे जिनसे इनकी पहचाना आसानी से हो सकेगी। सरकार ने इसी साल मार्च में 1, 2, 5 और 10 रुपये के खास फीचर्स वाले सिक्के जारी किए थे। इन सिक्कों को बनाते वक्त नेत्रहीन लोगों का खास ध्यान रखे जाने की बात कही गई थी। ये सिक्के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिज़ाइन द्वारा भेजे गए डिजाइन पर बनाए गए हैं। बीस रुपये के सिक्के का भी डिजाइन तैयार हो चुका है।

ऐसा होगा 20 रुपये का सिक्का
– इसका कुल भार 8.54 ग्राम होगा।
– इसमें 12 कोने होंगे।
– सिक्के का व्यास 27 मिलीमीटर होगा।
– सिक्के के आउटर रिंग और इनर रिंग 10 रुपये के सिक्के जैसे ही होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *