NMDC के दो बड़े फैसले : भर्ती परीक्षा अब दंतेवाड़ा में, स्टील प्लांट का मुख्यालय नगरनार में

  • इम्पेक्ट न्यूज. रायपुर.

NMDC बस्तर के बेरोजगारों को एक बड़ा मौका देने जा रहा है। ग्रुप C और ग्रुप D की भर्ती की परीक्षा अब दंतेवाड़ा में ही ली जायेगी। बुधवार की देर शाम NMDC की चेयरमैन और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बीच हुई बातचीत के दौरान इस बात का फैसला लिया गया।

NMDC के चेयरमैन एन बैजेंद्र कुमार से चर्चा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस बात की इच्छा जतायी थी कि NMDC छत्तीसगढ़ के स्थानीय बेरोजगारों को अपनी कंपनी में मौका दे। इसके लिए मुख्यमंत्री ने एक बड़ा सुझाव ये भी दिया था कि ग्रुप C और ग्रुप D की परीक्षा स्थानीय स्तर पर दंतेवाड़ा में ही करायी जाये, ताकि ज्यादा से ज्यादा बस्तर के युवा इसमें शामिल हो सकें।

मुख्यमंत्री के इस सलाह पर अमल करते हुए चेयरमैन एन बैजेंद्र कुमार ने स्थानीय स्तर पर दंतेवाड़ा में ही इन भर्ती की परीक्षा लेने का निर्देश दिया। इस निर्देश के बाद अब एनएमडीसी की बैलाडीला खानों में ग्रुप-सी एवं ग्रुप-डी कार्मिकों की भर्ती प्रक्रिया भविष्‍य में दंतेवाड़ा जिले के परीक्षा केंद्रों में की जाएगी।

वहीं बुधवार की शाम हुई मुख्यमंत्री के साथ बैठक में नगरनार स्टील प्लांट का मुख्यालय हैदराबाद के बजाय नगरनार में ही स्थापित करने का सुझाव मुख्यमंत्री ने NMDC के चेयरमैन को दिया। जिसके बाद चेयरमैन एन बैजेंद्र कुमार ने इसे भी तत्काल स्वीकार करते हुए नगरनार में इसका मुख्यालय बनाने को लेकर निर्देश जारी कर दिया। अब नगरनार स्टील प्लांट का मुख्यालय हैदराबाद में नहीं बल्कि नगरनार में ही होगा।

इससे पहले मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप के बाद आदिवासियों का आंदोलन खत्म होने को लेकर सीएमडी एन बैेजेंद्र कुमार ने मुख्यमंत्री का आभार जताया। आज दोपहर बाद उन्होंने भूपेश बघेल से मुलाकात भी की। आपको बता दें कि 7 दिनों से आदिवासियों के आंदोलन की वजह से एऩएमडीसी का काम बुरी तरह से प्रभावित हो गया था।

उल्लेखनीय है कि सीएमडी की मुलाकात के बाद बैलाडिला में आंदोलन को खत्म करने के लिए सरकार ने थोड़ी ऐहतियातन सख्ती भी बरती। बुधवार देर शाम एसडीएम ने नोटिस जारी कर आंदोलनकारियों को रात 12 बजे तक प्रदर्शन खत्म करने की चेतावनी जारी की थी। इसके साथ ही अतिरिक्त बल भी तैनात कर दिया गया। प्रशासन की सूझ—बूझ से पूरा मामला सुलह के साथ आज दोपहर समाप्त हुआ। इसके बाद सीएमडी ने सीएम भूपेश बघेल के प्रति आभार भी जताया है। आज दोपहर आंदोलनकारियों ने सरकार की मांगे मान ली और 15 दिन के भीतर ग्राम सभा में कथित फर्जीवाड़े की जांच और कार्रवाई के लिए सहमति प्रदान कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *