गुज्जापारा में माओ साथियों से इलाज करा रहा था आईईडी एक्सपर्ट हिड़मा

एक्शन टीम कमांडर हिड़मा पर था आठ लाख का इनाम, एक ने किया सरेंडर

इम्पेक्ट न्यूज.दंतेवाड़ा।

दंतेवाड़ा पुलिस को एक और सफलता हाथ लगी है। शनिवार को अलग-अलग थाना क्षेत्रों से इनामी पांच माओवादियों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं माओवादी विचारधारा से तौबा करते एक नक्सली ने पुलिस कप्तान के समक्ष सरेंडर कर दिया। पुलिस के मुताबिक पेरपा के गुज्जापारा में अपने जनमिलिशिया साथियों से इलाज करा रहे मलांगिर एरिया कमेटी एक्शन टीम कमांडर, टेक्निकल टीम प्रभारी, आईईडी एक्सपर्ट हिड़मा कवासी को किरंदुल डीएफ, डीआरजी, छसबल कैंप चोलनार की टीम ने घेराबंदी कर पकड़ा। दो दिन पहले पेरपा-मड़कामीरास के बीच जंगल में पुलिस नक्सली मुठभेड़ में भी हिड़मा शामिल था। मुठभेड़ के दौरान पैर में मोच आने से उसे इलाज के लिए दूसरी जगह ले जाने की तैयारी थी। एक्शन टीम कमांडर पर आठ लाख का ईनाम घोषित है। इधर, बारसूर पुलिस, डीआरजी की टीम मंगनार इलाके के जंगल में नक्सलियों के मूव्हमेंट की मुखबिर की सूचना पर सर्चिंग में निकली थी। इस दौरान मंगनार जंगल में जवानों की नक्सलियों से मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ थमने के बाद जवानों ने भाग रहे प्लाटून नंबर १६ के सदस्य बामन पोयाम व रेंज कमेटी अध्यक्ष लक्ष्मण वट्टी को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार बामन पर ईनाम पालिसी के तहत दो लाख रूपए तथा रेंज कमेटी अध्यक्ष पर एक लाख रूपए का ईनाम घोषित था।

गुंडाधूर के कहने पर पम्पलेट लगाने पहुंचे थे

माओवादी कमंाडर गुंडाधूर के कहने पर नक्सली विचारधारा का प्रचार-प्रसार करने पम्पलेट लगाने पहुंचे दो जनमिलिशिया सदस्य को मोसोलटोंडा पारा जबेली मार्ग में बर्रेवेसा के समीप धर दबोचा गया। जनमिलिशिया सदस्य हड़मा मड़काम रेवाली पटेलपारा थाना अरनपुर व देवा बारसे पोरदेम चिरमुर थाना गादीरास को घेराबंदी कर गिरफ्तार किया गया।

आंध्र में रहकर करता था सप्लाई का काम

इधर, मंलागिर एरिया कमेटी में सप्लाई टीम सदस्य नीलू भास्कर स्कूलपारा पेरपा ने माओवादियों की खोखली विचारधारा से परेशान व छग शासन की पुर्नवास नीति से प्रभावित होकर शनिवार को एसपी डा. अभिषेक पल्लव के समक्ष सरेंडर किया। नीलू भास्कर पिछले पांच साल से संगठन में सक्रिय रहा। इस दौरान आंध्रप्रदेश में रहकर २०१८ तक माओवादियों के लिए विस्फोटक सामग्री, दवाईयां, इलेक्ट्रानिक सामान, वर्दी कपड़ा एवं दैनिक उपयोगी सामग्री सप्लाई करने का काम करता था। वर्तमान में पेरपा में रहकर पुलिस की रेकी करने, संत्री ड्यूटी करने तथा दैनिक उपयोग की सामग्री की व्यवस्था करने का काम करता था।

आत्मसमर्पित नक्सली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *