सब इंजीनियर के घर बोरे में बंद नकदी के साथ मिला सोना

इंदौर।

लोकायुक्त की टीम ने शनिवार सुबह 6 बजे इंदौर विकास प्राधिकरण के सब इंजीनियर गजानन पाटीदार और उनके ठेकेदार भाई रमेश भाटीदार के अलग-अलग 9 ठिकानों पर छापा मारा है। छापे की कार्रवाई के दौरान बेहिसाब संपत्ति की जानकारी मिली है। इतना ही नहीं उनके घर से बड़ी मात्रा में नकदी और सोना-चांदी भी मिली है।

लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक सब इंजीनियर गजानन पाटीदार केवल आईडीए में ही नहीं काम करते हैं, बल्कि अपने भाई और रिश्तेदार के साथ मिलकर जमीन की खरीद-फरोख्त और कंस्ट्रक्शन का काम करते हैं। इस काम में उन्होंने मोटा पैसा लगाया हुआ है।

ऐसी जानकारी सामने आ रही है कि छापे के दौरान प्रारंभिक रूप से उनके घर से 25 लाख से ज्यादा नकदी मिली है। इसके अलावा कई किलो सोना और चांदी भी बरामद हुई है। इसके स्रोत के बारे में लोकायुक्त टीम जानकारी जुटा रही है। गजानन पाटीदार 5 वर्ष पूर्व ही इंदौर विकास प्राधिकरण में इंजीनियर बने हैं। उसके पूर्व तक प्राधिकरण में ड्राफ्टमैन के रूप में काम कर रहे थे। सरकार द्वारा उन्हें पदोन्नति देकर सब इंजीनियर बनाया गया। शुरू से ही वे प्राधिकरण की प्लानिंग शाखा में ही काम कर रहे हैं।

पहले ही लीक हो जाता था प्लान
इंदौर विकास प्राधिकरण द्वारा लाई जाने वाली किसी भी नई योजना का प्लान बनाने का काम शाखा द्वारा किया जाता है। हमेशा से यह आरोप लगते रहे हैं कि प्राधिकरण की प्लानिंग शाखा से जानकारियां लीक हो जाती है। इसके कारण प्राधिकरण की योजना आने के पूर्व से योजना की जानकारी होने पर जमीन के जादूगरों के द्वारा जमीन की खरीदी कर ली जाती है।

भाई भी बिल्डर
इंदौर विकास प्राधिकरण के इंजीनियर गजानन पाटीदार का भाई रमेश चंद्र पाटीदार बिल्डर के रूप में काम करता है। इस छापे के माध्यम से लोकायुक्त पुलिस के द्वारा यह जांच भी की जा रही है कि बिल्डर के इस कारोबार में उसके भाई के द्वारा अपनी सरकारी सेवा का किस तरह कितना उपयोग किया जाता है।

आठ ठिकानों पर कार्रवाई
इंदौर में सब इंजीनियर के 8 ठिकानों पर कार्रवाई चल रही है। साथ ही खरगोन के शेगांव में भी उनके पैतृक घर भी एक टीम जांच के लिए पहुंची हुई है। स्कीम नंबर 78 के अरण्य नगर में जिस मकान में छापे की कार्रवाई चल रही है। उसके बगल में दो 1500 स्केवयर फीट के प्लॉट मिले हैं। सब इंजीनियर के घर के पास ही भाई की पत्नी वंदना और बहन सुनीता पाटीदार का भी मकान मिला है। स्कीम नंबर 94 में भी एक मकान मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *