नगर तथा ग्रामीण मतदाता सूची में नाम के आरोप पर जिपं उपाध्यक्ष मनीष सुराना पर कार्रवाई, निर्वाचन शून्य करने की खबर, हाईकोर्ट में परिवाद दायर किया गया था

इम्पेक्ट न्यूज. दन्तेवाड़ा/रायपुर

दन्तेवाड़ा जिला पंचायत उपाध्यक्ष मनीष सुराना का जिला पंचायत सदस्य के रूप में निर्वाचन शून्य घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद से वे अब उपाध्यक्ष पद में भी नही रह सकेंगे। सूत्रों ने बताया कि आज पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग छत्तीसगढ़ शासन ने यह कार्यवाही की।

बताया जा रहा है कि चुनावी प्रक्रिया के दौरान में जिला पंचायत सदस्य पद हेतु प्रत्याशी मनीष सुराना के नगर पंचायत गीदम और ग्रामीण दोनों क्षेत्रो की मतदाता सूची नाम दर्ज था। इसे लेकर प्रत्याशी सुनील कुमार नागेश ने शिकायत की थी। इसकी सुनवाई ना होने के कारण श्री नागेश ने हाई कोर्ट में परिवाद दायर कर मनीष सुराना पर धोखाधड़ी से जिला पंचायत का चुनाव लड़ने का आरोप लगाया था।

इसी जीत के खिलाफ सुनील कुमार नागेश पिता मेहतर राम नागेश निवासी ग्राम बड़े बनेड़ा पोस्ट बाघमुंडी पनेड़ा विकास खंड गीदम जिला दंतेवाड़ा ने गीदम क्षेत्र के ही जिन्होंने जिला पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्य के लिए चुनाव लड़ा था, 6 लोगों पर न्यायलय में परिवाद दाखिल किया था।

जिसके बाद ही यह कार्यवाही की गई। मोबाइल पर दंतेवाड़ा जिला पंचायत उपाध्यक्ष मनीष सुराना से संपर्क साधने पर चर्चा के दौरान उन्होंने साफ तौर पर कहा इस तरह के आदेश की जानकारी अब तक नहीं है। श्री सुराना ने स्वीकार किया कि इस मामले पर हाई कोर्ट में परिवाद दाखिल किया गया था। श्री सुराना ने कहा कि अगर यह एक तरफा कार्रवाई की गई है तो मैं भी न्यायालय का दरवाजा खटखटाउंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *