लोकसभा चुनाव 2019: अमेठी में राहुल गांधी का नामांकन वैध करार दिया गया

न्यूज डेस्क.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नामांकन पत्र वैध पाया गया है। जिला अधिकारी न्यायालय में दो घंटे तक चली सुनवाई के दौरान सभी पक्षों को सुनने के बाद निर्वाचन अधिकारी ने उनका नामांकन पत्र स्वीकार कर लिया है।

नामांकन पत्र स्वीकार होने की खबर मिलते ही कांग्रेसियों ने जमकर जश्न मनाया। शनिवार को अमेठी लोकसभा उम्मीदवार अफजाल वारिस ध्रुव लाल सुरेश चंद व सुरेश चंद्र शुक्ला ने राहुल के द्वारा दाखिल किए गए हलफनामे में गलत तथ्य दिए जाने को लेकर उनका नामांकन पत्र खारिज करने की मांग की थी।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने राहुल गांधी के वकील राहुल कौशिक की मांग पर सोमवार को मामले में सुनवाई के लिए 10:30 बजे का समय तय किया था। सोमवार को जिला अधिकारी न्यायालय में राहुल गांधी के वकील किसी कौशिक व शिल्पी सत्यप्रिया सत्यम ने चारों उम्मीदवारों द्वारा किए गए आक्षेपों का खंडन किया।

जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. राम मनोहर मिश्र ने जारी आदेश में कहा कि उम्मीदवार सुरेश चंद द्वारा संपत्ति छुपाने का, अफजाल वारिस व सुरेश शुक्ला द्वारा नामांकन पत्र अन्यत्र से खरीदे जाने, अपनी डिग्री के संबंध में स्थान का उल्लेख ना किए जाने तथा चल संपत्ति से संबंधित कालम रिक्त छोड़े जाने को लेकर आपत्ति की गई थी।

जबकि उम्मीदवार ध्रुव लाल द्वारा सही आय न दिखाए जाने व विदेशी नागरिकता होने का आक्षेप लगाया गया था। सभी पक्षों पर सुनवाई करने के बाद निर्णय देते हुए निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि स्टांप हर जगह के मान्य होते हैं। आय के कॉलम व शैक्षिक योग्यता के सभी कॉलम भरे हुए हैं। वहीं नागरिकता को लेकर उठाए गए सवाल पर उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने अपनी नागरिकता के संबंध में प्रमाणिक दस्तावेज दिए हैं जबकि आक्षेप करने वाले पक्ष अपने आक्षेप के संबंध में कोई प्रमाणिक साक्ष्य नहीं दे सके।

वहीं जिला निर्वाचन अधिकारी नागरिकता को लेकर उठाए गए अन्य कई सवालों को अपने अधिकार क्षेत्र से परे बताया है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने यह भी कहा कि आयोग द्वारा जारी निर्देशों के क्रम में किसी उम्मीदवार के द्वारा दाखिल हलफनामे में कथित तौर पर गलत सूचना के आधार पर उसका नामांकन पत्र खारिज नहीं किया जा सकता है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने राहुल के नामांकन पत्र को वैध करार देते हुए उसे स्वीकार कर लिया है। नामांकन पत्र स्वीकार किए जाने के बाद सांसद प्रतिनिधि चंद्रकांत दुबे की अगुवाई में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया और कहा कि यह उनकी पहली जीत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *